दोस्त….

बिन सच्चे दोस्त, सब जीवन सूना
जिनसे सांझा कर सुखदुःख, हम राहें बुनते
हर रिश्ता हमको मिलता, बना बनाया
सिर्फ दोस्त ही है जीवन में, जिसे हम ख़ुद ही चुनते…..
#मन घुमक्कड़