माँ

कितना भी पढ़ लिख लो तुम यारो,
ये बस काबिल होने का किस्सा है।
जो सीख मिली माँ से हमको,
वह ही जीवन का हिस्सा है।।